Monday, 26 March 2018

Munnar: The Heaven

           समर वेकेशन आते आते बच्चों के साथ साथ बड़ों के मन मे ये सवाल उमड़ घुमड़ कर आने लगता है कि अबकी बार कौन से हिल स्टेशन के द्वार!! अपने भारत मे तो ना जाने कितने ऐसे शहर हैं जहां जा कर झुलसाने वाली गर्मियों से बचते हुये सुकून से चंद दिन गुजारे जा सकते हैं!! हिल स्टेशन का नाम ले तो समझ ही नही आता कहाँ से शुरू किया जाये!! बहुत सी जगहों के नाम तो आप इस ब्लॉग के जरिये जान ही गये होंगे!! पहाड़ में घर होने के कारण पहाड़ो के साथ चोली दामन का साथ रहा है मेरा!! कभी उत्तर भारत की हिमालय श्रंखला में मन रमा रहता था तो अब बैंगलोर में दाना पानी होने से पश्चिमी घाट अपना सा लगता है!!



             इसी क्रम में आज चलते हैं साउथ के एक सुंदर से पहाड़ी शहर मुन्नार!! केरल जिसे "God's own country" को ऊपर वाले ने बड़ी ही फुरसत से तराशा है!! इस छोटे से राज्य के पास ये समझ नही आता कि क्या नही है!! कहीं रेतीले समुद्री छोर हैं तो कहीं नारियल के पेड़ों की छांव तले बैक वाटर में विचरण करती हाउस बोट हैं!! कहीं कल कल बहती नदियाँ और सुंदर झील है तो कहीं मुन्नार जैसे मनभावन पहाड़ी क्षेत्र हैं!!
        मुन्नार का शाब्दिक अर्थ है तीन नदियों का संगम!! इस अद्भुत पहाड़ी शहर से निकटस्थ रेलवे एर्नाकुलम और आलुवा है!! एर्नाकुलम से मुन्नार की दूरी एक सौ चालीस किलोमीटर की है!! यहां का निकटवर्ती हवाई अड्डा कोचीन है !! इस प्रकार ये भारत से भली प्रकार जुड़ा हुआ है!! यूँ तो पूरा का पूरा मुन्नार शहर ही देखने लायक है!! यहाँ जा कर ऐसा लगता है कि जिस जगह पर खड़े हो जाओ वो ही टूरिस्ट स्पॉट बन जाये पर फिर भी हर शहर के कुछ मुख्य दर्शनीय स्थल होते हैं, ठीक उसी प्रकार यहां के कुछ दर्शनीय स्थलों के नाम इस प्रकार है-
ऐरविकुलम राष्ट्रीय उद्यान- ये राष्ट्रीय उद्यान पश्चिमी घाट में करीबन सौ किलोमीटर का विस्तार लिये हुए है। विभिन्न जैव संपदा अपने मे समेटे इस उद्यान को मुख्य रूप से नीलगिरी तहर के निवास स्थान के रूप में जाना जाता है। यहाँ से अनामुडी शिखर के दर्शन भी हो जाते हैं। ये जगह मुख्य रूप से नीलकरेंजी नाम के फूल के लिए भी जानी जाती है जो कि बारह साल में एक बार अपनी छटा बिखेरता है और उस समय ये पहाड़ नीलिमा अपने मे समेटे हुए अति आकर्षक लगते हैं। यदि देखने का मन है तो देर किस बात की 2018 में ही ये पाहड़ अपने हरे मखमली कालीन को छोड़ नीली चुनरिया अपने सर ओढ़ने वाले हैं तो तुरन्त यहां जाने का कार्यक्रम बना लीजिए।
माटूपेटी डैम- मुन्नार से तेरह किलोमीटर दूर स्थित ये जगह पर्यटकों के आकर्षण का मुख्य केन्द्र है।
इको पॉइंट-मट्टुपेट्टी डेम से थोड़ा दूरी पर इको पॉइंट है !! यहां पर एक आकर्षक झील है और यहाँ अपनी ही आवाज पलट कर वापस आने के कारण इसे इको पॉइंट कहा जाता है।
टी गार्डन- मुन्नार के कण कण में चाय बागान बसते हैं तो जिस जगह खड़े हो जाएं उसे ही टी गार्डन कह सकते हैं। यहाँ पर बहुत सारे चाय के कारखाने और संग्रहालय में जिनमे हम चाय की पत्तियों को तोड़ने से लेकर चाय बनने तक की पूरी प्रक्रिया को देख सकते हैं।
         प्राकृतिक सौंदर्य के  यहाँ होने वाले कथककली नृत्य और कलरिपट्टू को एक बार देखना तो अति आवश्यक है। यहाँ की सुंदरता का अंदाजा इस बात से ही लगा सकते हैं कि ये दक्षिण भारत मे अंग्रेजों का पसन्दीदा पर्वतीय स्थल हुआ करता था और इसी कारण उन्होंने इसे दक्षिण भारत में अपना कार्य स्थल बनाया था।
जहां नजर डालो वहीं हरियाली।

पहाड़ो के बीच दूर चमकती हुई झील और उस पर बादलों से ढका आसमान!!

कलरिपट्टू

कब जायें-यूँ तो मुन्नार का मौसम साल भर सुहावना बना रहता है लेकिन यहाँ बरसात की अधिकता रहती है या यूं कहूँ कब बरसात हो जाये कुछ भरोसा नही रहता और बरसात के साथ ही कब मौसम का रुख बदल कर ठंड अपने आगोश में ले ले कह नही सकते। इस लिए यहाँ आते समय अपने साथ एक दो जोड़ी गर्म कपड़े लाना जरूरी हो जाता है और कुछ इस तरह के कपड़े और फूटवियर ऐसे भी लाने चाहिए जो कि अगर बरसात के मौसम में घूमना पड़े जो ज्यादा परेशानी का सामना ना करना पड़े।
कैसे जाए- मुन्नार का समीपवर्ती हवाई अड्डा कोचीन है और यहां से लोकल बस एवं टेक्सी मुन्नार के सर्पिलाकार पहाड़ों के लिए मिल जाती है।
           यदि ट्रैन से जाना हो तो एरनाकुलम यहां का समीपवर्ती रेलवे स्टेशन है जो दक्षिण भारत के सभी मुख्य शहरों से जुड़ा हुआ है।
          ड्राइव कर के जाने की इच्छा हो तो बैंगलोर से कोडाइकनाल होते हुए मुन्नार के रास्तों को भारत के मस्ट गो रोड ट्रिप में से एक माना जाता है।
क्या खरीदे- यहां पर चाय, मसाले और काजू बहुतायत में मिलते है।
कैसे घूमे-लोकल टेक्सी, बस एवं ऑटो द्वारा यहाँ के प्रमुख स्थलों के दर्शन किये जा सकते हैं।

3 comments:

  1. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  2. मुन्नार की अच्छी जानकारी मिली आपकी इस पोस्ट के द्वारा।

    ReplyDelete
  3. फोटू तो दिखती हर्षा

    ReplyDelete